Class 9 Sanskrit Chapter 10 Jatayo Shouryam

Class 9 Sanskrit Chapter 10 Hindi translation

Class 9 Sanskrit Chapter 10 Jatayo Shouryam दशमः पाठः जटायोः शौर्यम् (जटायु की वीरता) Jatayo Shouryam प्रस्तुत पाठ्यांश आदिकवि वाल्मीकि-प्रणीत रामायणम् के अरण्यकाण्ड से उद्धत किया गया है जिसमें जटायु और रावण के युद्ध का वर्णन है। पंचवटी कानन में सीता का करुण विलाप सुनकर पक्षिश्रेष्ठ जटायु उनकी रक्षा के लिए दौड़े। वे रावण को …

Read more

NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 9

NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 9

NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 9 नवमः पाठः सिकतासेतुः  (बालू मिट्टी का पुल) प्रस्तुत नाट्यांश सोमदेवरचित कथासरित्सागर के सप्तम लम्बक (अध्याय) पर आधारित है। यहाँ तपोबल से विद्या पाने के लिए प्रयत्नशील तपोदत्त नामक एक बालक की कथा का वर्णन है। नवमः पाठः सिकतासेतुः  (बालू मिट्टी का पुल) पाठ परिचय- प्रस्तुत नाट्यांश सोमदेवरचित …

Read more

NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 8

Class 9 Sanskrit solutions

NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 8 पाठ  परिचय- Class 9 Sanskrit प्रस्तुत पाठ विष्णुशर्मा द्वारा रचित ‘पञ्चतन्त्रम्’ नामक कथा-ग्रन्थ के ‘मित्रभेद’ नामक तन्त्र से सङ्कलित है। इसमें विदेश से लौटकर जीर्णधन नामक व्यापारी अपनी धरोहर (तराजू) को सेठ से माँगता है। ‘तराजू चूहे खा गये हैं’ ऐसा सुनकर जीर्णधन उसके पुत्र को स्नान …

Read more

NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 7

NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 7

NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 7 NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 7 सप्तमः पाठः प्रत्यभिज्ञानम्  (पहचान) प्रस्तुत पाठ भास रचित ‘पञ्चरात्रम्‘ नामक नाटक से सम्पादित कर लिया गया है। दुर्योधन आदि कौरव वीरों ने राजा विराट की गायों का अपहरण कर लिया। विराट-पुत्र उत्तर बृहन्नला (छद्मवेषी अर्जुन) को सारथी बनाकर कौरवों …

Read more

NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 6

NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 6

NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 6 NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 6 प्रस्तुत पाठ ‘संस्कृत प्रौढपाठावलिः’ नामक ग्रन्थ से सम्पादित कर लिया गया है। इस कथा में एक ऐसे बालक का चित्रण है, जिसका मन अध्ययन की अपेक्षा खेल-कूद में लगा रहता है। यहाँ तक कि वह खेलने के लिए पशु-पक्षियों …

Read more

Class 9 Sanskrit Chapter 5 Hindi translation

Class 9 Sanskrit Chapter 5 Hindi translation

Class 9 Sanskrit Chapter 5 Hindi translation Class 9 Sanskrit Chapter 5 Hindi translation, संस्कृत साहित्य में नीति-ग्रन्थों की समृद्ध परम्परा है। इनमें सारगर्भित और सरल रूप में नैतिक शिक्षाएँ दी गई हैं, जिनका उपयोग करके मनुष्य अपने  जीवन को सफल और समृद्ध बना सकता है। ऐसे ही  मनोहारी और बहुमूल्य सुभाषित यहाँ संकलित हैं, …

Read more

NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 4

NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 4

NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 4 NCERT Solutions for Class 9 Sanskrit Chapter 4, प्रस्तुत पाठ ‘वेतालपञ्चविंशतिः‘ नामक कथा-संग्रह से लिया गया है, जिसमें मनोरञ्जक एवं आश्चर्यजनक घटनाओं के माध्यम से जीवन-मूल्यों का निरूपण किया गया है। इस कथा में जीमूतवाहन अपने पूर्वजों के काल से गृहोद्यान में आरोपित कल्पवृक्ष से सांसारिक द्रव्यों …

Read more

Class 9 Sanskrit Chapter 3 Godohanam Question Answer

Class 9 Sanskrit Chapter 3

Class 9 Sanskrit Chapter 3 Godohanam Question Answer Class 9 Sanskrit Chapter 3,पाठ परिचय- यह नाट्यांश कृष्णचन्द्र त्रिपाठी महोदय द्वारा रचित ‘चतुव्र्यूहम्’ नामक पुस्तक से संक्षिप्त करके  और सम्पादित करके उद्धृत किया गया है । इस नाटक में एक ऐसे व्यक्ति का कथानक है जो धनवान् और सुखी बनने की इच्छा से अपनी गाय से …

Read more

Shemushi Sanskrit Class 9 Solutions Chapter 2

Shemushi Sanskrit Class 9 Solutions Chapter 2

Shemushi Sanskrit Class 9 Solutions Chapter 2 Shemushi Sanskrit Class 9 Solutions Chapter 2, प्रस्तुत पाठ श्री पद्मशास्त्री द्वारा रचित ‘विश्वकथाशतकम् ‘ नामक कथा-संग्रह से लिया गया है, जिसमें विभिन्न देशों की सौ लोक-कथाओं का संग्रह है। यह बर्मा देश की एक श्रेष्ठ कथा है, जिसमें लोभ और उसके दुष्परिणाम के साथ-साथ त्याग और उसके …

Read more

Class 9 Sanskrit Chapter 1 Hindi translation

Class 9 Sanskrit Chapter 1 Hindi translation

Class 9 Sanskrit Chapter 1 Class 9 Sanskrit Chapter 1 Hindi translation, प्रस्तुत पाठ आधुनिक संस्कृत-साहित्य के प्रख्यात कवि पं. जानकी वल्लभ शास्त्री की रचना ‘काकली‘ नामक गीत-संग्रह से संकलित है। इसमें सरस्वती की वन्दना करते हुए कामना की गई है कि हे सरस्वती! ऐसी वीणा बजाओ, जिससे मधुरमञ्जरियों से पीत पंक्तिवाले आम के वृक्ष, …

Read more

error: Content is protected !!